New Shayari

💑जब खयाल आया तो खयाल
भी उनका आया
जब आखें बंद की ख्वाब
भी उनका आया,
सोचा याद कर लू किसी और को
मगर होठ खुले तो नाम भी उनका आया💑


New Shayari

पैगाम तो एक बहाना था ,
इरादा तो आपको याद दिलाना था ,
आप याद करे या न करे कोई बात नही,
पर आपकी याद आती है,
बस इतना ही हमे आपको बताना था।

चुपचाप गुज़ार देगें
तेरे बिना भी ये ज़िन्दगी,
लोगो को सिखा देगें,
मोहब्बत ऐसे भी होती है।


New Shayari

जाने कौन तेरा हबीब होगा,
तेरे हाथो में जिसका नसीब होगा,
कोई तुम्हे चाहे ये बड़ी बात नहीं,
जिसको तुम चाहो वो खुसनसीब होगा…

Previous page 1 2 3 4 5
Back to top button
Close