Attitude Shayari

चर्चे हमेशा उन्ही के हुआ करते हैं,
जिनके अंदाज़ अलग हुआ करते हैं।

[tie_full_img][/tie_full_img]


जब भी कोई हमे कील की तरह चुभने लगते है,
उसे हम हथौड़ी बनकर ठोक दिया करते हैं।

[tie_full_img][/tie_full_img]


अभी तो मैं काँच हूँ, इसलिए दुनिया को चुभता हूँ,
जब आईना बन गया तो सारा ज़माना देखेगा।

[tie_full_img][/tie_full_img]


हमसे जलने वाले भी कमाल के होते हैं,
महफिले तो खुद की होती हैं पर चर्चे हमारे होते हैं।

[tie_full_img][/tie_full_img]


चर्चे उन्हीं के होते है, जिनके मिजाज कुछ अलग से होते है.

[tie_full_img][/tie_full_img]

2 thoughts on “Attitude Shayari”

Comments are closed.