Intezaar Shayari

Intezaar Shayari

Hindi Shayari Love Shayari
Facebook Shayari Attitude Shayari

Love Shayari Sad Shayari
Hindi Status Attitude Status

जो तेरे साथ रहते हुए सोगवार हो।लानत हो ऐसे शख़्स पे और बेशुमार हो।

Intezaar Shayari


अब इतनी देर भी ना लगा, ये हो ना कहीं तू आ चुका हो और तेरा इंतज़ार हो।

Intezaar Shayari

Related Articles

मै फूल हूँ तो फिर तेरे बालो में क्यों नही हूँ तू तीर है तो मेरे कलेजे के पार हो।

Intezaar Shayari


एक आस्तीन चढ़ाने की आदत को छोड़ कर हाफ़ी तुम आदमी तो बहुत शानदार हो।

Intezaar Shayari


वो आ रहे हैं, वो आते हैं, आ रहे हों शब-ए-फ़िराक़ ये कह कर गुज़ार दी हम ने।

Intezaar Shayari


कदर नही होती जब मिल जाता है सब आसानी से, बहुत जरूरी है जिंदगी में इंतजार होना।

Intezaar Shayari


कब ठहरेगा दर्द ऐ दिल कब रात बसर होगी सुनते थे वो आएँगे सुनते थे सहर होगी।

Intezaar Shayari


ये दाग़ दाग़ उजाला ये शब-गज़ीदा सहर वो इंतिज़ार था जिस का ये वो सहर तो नहीं।

Intezaar Shayari


ये न थी हमारी क़िस्मत कि विसाल-ए-यार होता, अगर और जीते रहते यही इंतिज़ार होता।

Intezaar Shayari


सब इंतजार में थे कब कोई ज़बान खुले फिर उसके होंठ खुले और सबके कान खुले।

Intezaar Shayari


Top 50 Intezaar Shayari

कभी तो चौंक के देखे कोई हमारी तरफ़ किसी की आँख में हम को भी इंतिज़ार दिखे।

Intezaar Shayari


अब जो पत्थर है आदमी था कभी इस को कहते हैं इंतिज़ार मियाँ।

Intezaar Shayari


इक रात वो गया था जहाँ बात रोक के अब तक रुका हुआ हूँ वहीं रात रोक के।

Intezaar Shayari


कहीं वो आ के मिटा दें न इंतिज़ार का लुत्फ़ कहीं क़ुबूल न हो जाए इल्तिजा मेरी।

Intezaar Shayari


लौट कर नहीं आता कब्र से कोई लेकिन प्यार करने वालों को इंतज़ार रहता है।

Intezaar Shayari


हो चाहें जितना हसीं ख्वाब याद रहता नहीं जब आंख दर्जनों लोगों के दरमियान खुले।

Intezaar Shayari


वो चाँद कह के गया था कि आज निकलेगा तो इंतिज़ार में बैठा हुआ हूँ शाम से मैं।

Intezaar Shayari


हम ने अक्सर तुम्हारी राहों में रुक कर अपना ही इंतिज़ार किया।

Intezaar Shayari


गया वह शख्स तो नजरें उठाई लोगों ने हवा चली तो जहाजों के बाजबान खुले।

Intezaar Shayari


शब-ए-इंतिज़ार की कश्मकश में न पूछ कैसे सहर हुई कभी इक चराग़ जला दिया कभी इक चराग़ बुझा दिया।

Intezaar Shayari


Best 50 Intezaar Shayari

कहीं चाँद राहों में खो गया कहीं चाँदनी भी भटक गई मैं चराग़ वो भी बुझा हुआ मेरी रात कैसे चमक गई।

Intezaar Shayari


कोई इशारा दिलासा न कोई वादा मगर जब आई शाम तेरा इंतिज़ार करने लगे।

Intezaar Shayari


गुलों में रंग भरे बाद-ए-नौबहार चले चले भी आओ कि गुलशन का कारोबार चले।

Intezaar Shayari


बहुत सा लेंगे किराया जरा सी देंगे जगह यहां के लोगों के दिल तंग है मकान खुले।

Intezaar Shayari


जलवे तुझे दिखाएँगे बस इंतिज़ार कर हम कौन हैं बताएँगे बस इंतिज़ार कर।

Intezaar Shayari


रंग रंग तेरी मौजूदगी का मोहताज है,तेरे बगैर ये दुनियाँ बेरंग सी लगती है।

Intezaar Shayari


पल भर का प्यार और बरसों का इंतज़ार, जैसे कोई अपना ही अपने घर को लूट रहा है।

Intezaar Shayari


ख़्वाब सजाकर उसका इंतज़ार करता रहा मैं, इसी तरह एक बेवफ़ा से प्यार करता रहा मैं।

Intezaar Shayari


हालात कह रहे है, के अब मुलाक़ात नहीं होगी उम्मीद कह रही हैं ज़रा इन्तेज़ार कर।

Intezaar Shayari


जी भर गया है तो बता दो हमें इनकार पसंद है इंतजार नहीं।

Intezaar Shayari


Intezaar Shayari in Hindi

ऐसी क्या कशिश है, तेरे दीदार में हर रात जागना पड़ता है, सुबह के इंतजार में।

Intezaar Shayari


किसी ने मोहब्बत लिखी तो किसी ने करार लिखा हमने अपने हर एक शेर में बस तेरा इंतजार लिखा।

Intezaar Shayari


फिर मुक़द्दर की लकीरों में लिख दिए इंतज़ार, फिर वही रात का आलम और मैं तनहा तनहा।

Intezaar Shayari


ग़ज़ब किया तेरे वादे पे ऐतबार किया तमाम रात क़यामत का इंतिज़ार किया।

Intezaar Shayari


तेरी मोहब्बत पे मेरा हक तो नहीं पर दिल चाहता है आखरी साँस तक तेरा इंतज़ार करू।

Intezaar Shayari


रात देर तक तेरी दहलीज़ पर बैठी रहीं आँखें, खुद न आना था तो कोई ख्वाब ही भेज दिया होता।

Intezaar Shayari


आपकी जुदाई भी हमें प्यार करती है, आपकी यादें भी हमे बेकरार करती है, आते जाते यूँ ही हो जाए मुलाकात आपसे, तलाश आपको ये नजर बार बार करती है।

Intezaar Shayari


अच्छे वक़्त का इंतजार हम नही करते हम तो बुरे वक़्त को भी अच्छे मे बदलने की औक़ात रखते है।

Intezaar Shayari


जी भर के हमको ख़ून के आँसू रूला तू आज कल हम तुझे रुलाएँगे बस इंतिज़ार कर।

Intezaar Shayari


मैं लौटने के इरादे से जा रहा हूँ मगर सफ़र सफ़र है मिरा इंतिज़ार मत करना।

Intezaar Shayari


Top Best Intezaar Shayari 2022

थक गए हम करते करते इंतिज़ार इक क़यामत उन का आना हो गया।

Intezaar Shayari


कटते किसी तरह से नहीं हाए क्या करूँ दिन हो गए पहाड़ मुझे इंतिज़ार के।

Intezaar Shayari


ओ जाने वाले आ के तेरे इंतिज़ार में रस्ते को घर बनाए ज़माने गुज़र गए।

Intezaar Shayari


साल पे साल आते गए, कलेंडर बदलते गए, पर इस दिल को देखो, पागल है आज भी तुम्हारा इन्तजार करता है इन्तजार।

Intezaar Shayari


दो तरह के आशिक होते हैं, एक हासिल करने वाले और दूसरे इंतज़ार करने वाले।

Intezaar Shayari


उसने ना की उम्मीद तो नहीं, फिर भी उसका इंतज़ार किये जा रहे हैं।

Intezaar Shayari


आंखों का इंतज़ार तुम पर आकर ही तो खत्म होता है, फिर चाहे वो हकीकत हो या ख्वाब।

Intezaar Shayari


इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है, खामोशियों की अब आदत हो गयी है।

Intezaar Shayari


वो न आयेगा हमें मालूम था, मगर कुछ सोच कर करते रहे इंतज़ार उसका।

Intezaar Shayari


फरियाद कर रही है यह तरसी हुई निगाह, देखे हुए किसी को ज़माना गुजर गया।

Intezaar Shayari


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button