Maa Shayari

Maa Shayari

 

Attitude Status Sad Status
Whatsapp Status Hindi Status

Love Shayari Sad Shayari
Hindi Status Attitude Status

 

हँसकर मेरा हर गम भुलाती है माँ, मैं रोता हूँ तो सीने से लगाती है माँ, बहुत दर्द दिया है ज़माने ने मुझको, सबकुछ झेलकर जीना सिखाती है माँ।

Related Articles

दुनिया में एक माँ ही ऐसी शख्स है, जो अकेली सबके किरदार निभा सकती है, लेकिन माँ का किरदार कोई और नहीं निभा सकता।


बीमारी में भी खुद की परवाह से बेपरवाह रहती है एक माँ ही तो होती है, जो सब कुछ सह कर भी बच्चों का ख्याल रखती है।


एक औरत माँ बनने के लिए अपना अस्तित्व दाव पर लगा देती है, लेकिन एक औलाद अपनी बीवी के लिए उसी माँ को दाव पर लगा देता है।


जिसके होने से मैं खुद को मुक्कम्मल मानता हूँ, में खुदा से पहले मेरी माँ को जानता हूँ।


मां वो सितारा है जिसकी गोद में जाने के लिए हर कोई तरसता है, जो मां को नहीं पूछते वो जिंदगी भर जन्नत को तरसता है।


माँ की बूढी आंखों को अब कुछ दिखाई नहीं देता, लेकिन वर्षों बाद भी आंखों में लिखा हर एक अरमान पढ़ लिया।


मां तुम्हारे पास आता हूं तो सांसें भीग जाती है, मोहब्बत इतनी मिलती है की आंखें भीग जाती है।


मुसीबतों ने मुझे काले बादल की तरह घेर लिया, जब कोई राह नजर नहीं आई तो मां याद आई।


जमाने ने इतने सितम दिए की रूह पर भी जख्म लग गया, मां ने सर पर हाथ रख दिया तो मरहम लग गया।


Top 50 Maa Shayari

 

किसी भी मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता, शायद अब घर से कोई मां के पैर छूकर नहीं निकलता।


हम खुशियों में मां को भले ही भूल जाए, जब मुसीबत आ जाए तो याद आती है मां।


हालात बुरे थे मगर अमीर बना कर रखती थी, हम गरीब थे यह बस हमारी मां जानती थी।


तकिए बदले हमने बेशुमार लेकिन तकिए हमें सुलाते नहीं, बेखबर थे हम कि तकिए में मां की गोद को तलाशते नहीं।


मां तेरे एहसास की खुशबू हमेशा ताजा रहती है, तेरी रहमत की बारिश से मुरादें भीग जाती है।


राहे मुश्किल थी रोकने की कोशिश बहुत की, लेकिन रोक न पाए क्योंकि मैं घर से मां के पैर छू निकला था।


कोई सरहद नहीं होती, कोई गलियारा नहीं होता, अगर मां की बीच होती, तो बंटवारा नहीं होता।


उम्र भर खाली यूं ही मकान हमने रहने दिया, तुम गए तो दूसरे को कभी यहां रहने ना दिया, मैंने कल सब चाहतों की किताबे फाड़ दी, सिर्फ एक कागज पर लिखा मां रहने दिया।


काम से घर लौट कर आया तो सपने को क्या लाए, बस एक मां ने पूछा बेटा कुछ खाया कि नहीं।


हर गली, हर शहर, हर देश-विदेश देखा, लेकिन मां तेरे जैसा प्यार कहीं नहीं देखा।


Best 50 Maa Shayari

 

कभी चाउमीन, कभी मैगी, कभी पीजा खाया लेकिन, जब मां के हाथ की रोटी खायी तब ही पेट भर पाया।


माँ की अजमत से अच्छा जाम क्या होगा, माँ की खिदमत से अच्छा काम क्या होगा, खुदा ने रख दी हो जिस के कदमो में जन्नत, सोचो उसके सर का मुकाम क्या होगा।


माँ खुद भूखी होती है, मुझे खिलाती है, खुद दुःखी होती है, मुझे चेन की नींद सुलाती है।


भटकती हुई राहों की धूल था मैं जब मां के चरणों को छुआ तो चमकता हुआ सितारा बन गया।


पहाड़ो जैसे सदमे झेलती है उम्र भर लेकिन, बस इक औलाद के सितम से माँ टूट जाती है।


मां तो वो है जो अगर खुश होकर सर पर हाथ रख दे, तो दुश्मन तो क्या काल भी घबरा जाए।


मां कहती नहीं लेकिन सब कुछ समझती है, दिल की और जुबां की दोनों भाषा समझती है।


मां की दुआ को क्या नाम दूं, उसका हाथ हो सर पर तो मुकद्दर जाग उठता है।


गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें है कितने, भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी।


बर्तन माज कर माँ चार बेटो को पाल लेती है, लेकिन चार बेटो से माँ को दो वक्त की रोटी नही दी जाती।


Maa Shayari in Hindi 2022

 

बिना हुनर के भी वो चार ओलाद पाल लेती है, कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी।


रब से करू दुआ बार-बार हर जन्म मिले मुझे माँ का प्यार, खुदा कबूल करे मेरी मन्नत फिर से देना मुझे माँ के आंचल की जन्नत।


उस रब ने माँ को यह ताक़त कमाल दी, उसकी दुआ पर हर मुसीबत भी टाल दी, माँ के प्यार की कुछ इस तरह मिसाल दी, कि जन्नत उठाकर माँ के क़दमों में डाल दी।


हम इस दुनिया में मां की बदौलत से ही आते हैं और माँ ही है, जो हमें अपनी सबसे पहली भाषा मातृभाषा सिखाते हैं।


मेरी तक़दीर में कभी कोई गम नही होता, अगर तक़दीर लिखने का हक़ मेरी माँ को होता।


घर में धन, दौलत, हीरे, जवाहरात सब आए, लेकिन जब घर में मां आई तब खुशियां आई।


माँ की दुआ कभी खाली नहीं जाती, माँ की बात कभी टाली नहीं जाती, अपने सब बच्चे पाल लेती है बर्तन धोकर और बच्चों से एक माँ पाली नहीं जाती।


जिसके होने से मैं खुद को मुक्कम्मल मानता हूँ, में खुदा से पहले मेरी माँ को जानता हूँ।


चलती फिरती आंखों से अजां देखी है, मैंने जन्नत तो नहीं देखी लेकिन मां देखी है।


मुझे माफ़ कर मेरे या खुदा, झुक कर करू तेरा सजदा, तुझसे भी पहले माँ मेरे लिए ना कर कभी मुझे माँ से जुदा।


Top Best Maa Shayari

 

एक ये दुनिया है जो समझाने से भी समझती नही और एक माँ है जो बिना बोले सब समझ जाती है।


ऐ मेरे मालिक माँग लू दुआ की फिर यही जहां, मिले फिर वही गोद, फिर वही माँ मिले।


जब कोई पूछता है मुझसे दुनिया में मोहब्बत, कहा बची है मुस्कुरा देता हूं और याद आती है माँ।


इस दुनिया मे माँ ही ऐसी है जो हर किरदार निभा सकती है, लेकिन माँ का किरदार कोई नही सकता।


माँ के कद से ऊँचा इस दुनिया मे किसी का कद, नही हो सकता फिर चाहे वो खुदा ही क्यों ना हो, माँ के लफ्जो में कभी-भी बदुआ नही होती, क्योंकि माँ है जो कभी धोखा नही दे सकती।


मेरी हर कोशिश को मेरा रब सफल कर देता है, मेरी माँ का होना मुझे मुकम्मल कर देता है।


माँ तो जन्नत का फूल है, प्यार करना तो उसका उसूल है, दुनिया की मोहब्बत तो फज़ूल है, माँ की हर दुआ क़ुबूल है, माँ को कभी नाराज़ न करना, क्योकि माँ के कदमो की मिटटी जन्नत की धुल है।


रोटी वो आधी खाती हे मगर अपने बच्चो को पूरा खिलाती हे, चाहे मेरी माँ हो या तुम्हारी दोस्तों माँ सबकी ऐसी ही होती हे।


सब कुछ मिल जाता है दुनिया में मगर, याद रखना की माँ-बाप नहीं मिलते है, मुरझा कर जो गिर जाए डाली से, ये ऐसे फूल है जो फिर नहीं मिलते।


उसके आँचल में मुझे बहुत सुकून मिलता है, ज़िंदगी खुशनुमा लगती है जीने का जूनून मिलता है।


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button